NRC: Confusing the Nation in the Name of Citizenship | The Wire

  • 🎬 Video
  • ℹ️ Description
NRC: Confusing the Nation in the Name of Citizenship | The Wire 4.5
UChWtJey46brNr7qHQpN6KLQ

गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने देश भर में एनआरसी लागू करने के लिए 2024 की समयसीमा तय कर दी है आख़िर क्या वजह है कि भाजपा एनआरसी को पूरे देश मैं लागू करना चाहती है. इसी मुद्दे पर द वायर की डिप्टी एडिटर संगीता बरुआ पिशारोती, वरिष्ठ पत्रकार गौतम लाहिड़ी और मानवाधिकार कार्यकर्ता रवि नायर के साथ चर्चा कर रहे है वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश.

#NRC


The founding premise of The Wire is this: if good journalism is to survive and thrive, it can only do so by being both editorially and financially independent. This means relying principally on contributions from readers and concerned citizens who have no interest other than to sustain a space for quality journalism. As a publication, The Wire will be firmly committed to the public interest and democratic values.
We publish in four different languages!
You can also follow The Wire’s social media platforms and engage with us.
Facebook
Twitter
Instagram
Don’t forget to hit the subscribe button to never miss a video from The Wire!

💬 Comments on the video
Author

Ab sb ek ho k public isska virod kareygi 😎😎😎😎

Author — Rajesh Kumar Yadav

Author

सही बात तो ये है इस तड़ीपार को, तड़ीपार किया गया था उसी का बदला लेना चाहता है और अपने बदले की भावना से सोनिया गांधी, राहुल गांधी निशाने पर हैं
पूरे देश को डुबोना चाहता है ये

Author — deepak singh

Author

भाजपा ने भारत के टुकड़े करने का प्लान बना लिया है भारत को तोड़ने का बीड़ा उठा लिया है

Author — I LOVE MY INDIA

Author

BJP NRC KA SATH
DESH KA VINASH
TAY HAI

Author — Gurvinder Singh

Author

रंगा-बिल्ला देश के टुकड़े करना चाहते हैं।और यह हम होने नहीं देंगे।

Author — Dr.Shams Raza

Author

बीजेपी को घमंड हैं कि वह को भी करे देश वोट देकर जितवाते हैं अगर हम उनको हर राज्यो से हरवा दे तो उसका घमंड टूट जाएगा

Author — Being Indian

Author

*बीजेपी सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए एनआरसी का मुद्दा बार-बार उछालती है*
*ताकि जनता मोदी सरकार से बेरोजगारी महंगाई गिरती अर्थव्यवस्था पर सवाल है ना कर सके*

Author — ABHAY ROCK

Author

Muslim se itni nafrat magar Muslim (Arab Desho) ko Jappi / MOHABBAT 😂🤣😂🤣😂🤣

Author — M S

Author

सर यह जो अमानवीय स्थिति बनाई जा रही है, इससे निपटने के दो ही रास्ते हैं ---विपक्ष एकजुट हो और जनता इन खलनायकों को उखाड़ फेंकने के लिए सड़कों पर आ जाए ।

Author — Shobhna Vijh

Author

BJP se sare sansad estipha de aur Sarkar giraye .

Author — Life of Good Habits

Author

समय आ गया है की देश खुद तय करें की उसे किस रास्ते जाना है
गांधी के या गोडसे के ?
उम्मीद है लोग जवाब जरूर देंगे.

Author — Mai Bhi Ravish Kumar

Author

The wire should consider doing more programs in English.

Author — john eapen

Author

good job ..."the wire" need employment and we should increase the GDP for raising genuine news

Author — Ashutosh Yadav

Author

एक आदमी के ससुराल में शादी थी।।बच्चे पत्नी दो दिन से पीछे पड़े थे कि बाजार चलो कपड़े दिलवाओ, पत्नी बेटी गोल्ड की चीज भी मांग रही थी।। शादी में देने के लिए गिफ्ट भी लाना था।। आदमी परेशान था कि बजट एक लाख से पार जाएगा।।
आदमी ने सुबह सैर पर जाते वक्त पड़ोसी के घर पत्थर फेंक दिया, पड़ोसी ने कारण पूछा तो गाली गलौच करने लगा, दोनों आपस मे भीड़ गये।। शोर सुनकर लोग इकट्ठे हो गए।। दोनों की लड़ाई में परिवार के लोग शामिल हो गये।। मामला फिलहाल थाने में है।। पूरी गली व्यस्त है राजीनामा करवाने में।।
शादी हो गयी है रिश्तेदारी में।। कोई नहीं गया ना किसी की डिमांड पूरी हुई, आदमी के पक्ष में पूरा परिवार खड़ा है कि आप अपने आप को अकेला मत समझो हम सब साथ है।।

ऐसे ही है हमारे प्रधानमंत्री जी जब देश की जनता कुछ मांगती है तो पड़ोसी के घर पत्थर फेंक कर हम सबको देशभक्ति में उलझा देते है।

😅😂🤣😛😀😁😄😃

Author — yaseen peerzade

Author

Oppose NRC and citizenship amendment Bill.

Author — Satyajit Das

Author

अंधभक्ति एक ऐसी बिमारी है कि भारतीय अर्थव्यवस्था एवं सामाजिक व्यवस्था चाहे जितना भी चरमरा नहीं समझ इलाज करना जरूरी

Author — Climactic Learnings

Author

I insist to wire, you ought to do this kind of programs more, where every indian know the day to day status of country...

Author — Mohammad Shareef Shaik

Author

इस बात में कोई शक नहीं एनआरसी लागू होने के बाद एनआरसी रिट्रेक्शन कैंप के लिए जो पैसा खर्चा किया जाएगा उससे भारत की अर्थव्यवस्था और भी कमजोर हो जाएगी जीटीपी और भी कम से कम हो जाएगा

Author — मीरवाइज Siddiqui

Author

2 - 4 lakh videshi hamare desh mein reh jaye...to kaun da aasman toot padega.
Janta ko gumrah karne ka ek aur Jumla. BJP bhagao...desh bachao.

Author — Lone Ranger

Author

भारतीय नागरिकों को गुलाम बनाकर लाइन में लगा कर तबाह बर्बाद करने वाली सबसे भयानक पार्टी बन गई है भाजपा

Author — I LOVE MY INDIA