Myanmar police officers detained over Rohingya beatings video - BBC News

  • 🎬 Video
  • ℹ️ Description
Invalid campaign token '7mSKfTYh8S4wP2GW'
Myanmar police officers detained over Rohingya beatings video - BBC News 3
A video that appears to show Myanmar police officers beating members of the Muslim Rohingya minority during a security operation has emerged on Burmese social media.
The government said the incident, apparently filmed by a police officer, happened in restive Rakhine state in November and several officers had been detained.



Download — Myanmar police officers detained over Rohingya beatings video - BBC News

Download video
💬 Comments on the video
Author

BBC, why dont you go to yemen and see the atrocities done by the saudi government using british weapons.

Author — Sam Abey

Author

Please Myanmar people kill them, don't sent to India.

Author — GAMER WORLD JAIPUR

Author

Myanmar gofermmant regime already inhumane!!!

Author — Amirudin Grungee

Author

Alien should invade us
Half of the population should face brutal death. Then only we people will live together

Author — Azmi Caseer

Author

Don't worry guys...
Jannatul Firdaus is ready to welcome you after death....and you will live there peacefully forever....
The hellfire is granted for who brutally beating u and killing U Allah..
La Ilaha Illah Mohammed dur rasul Allah(There is no God but Allah & Mohammed (pbuh) is Allah's messenger....

Author — Education Point

Author

maybe Myanmar officers should send them to Britain instead, since the British care so much

Author — Tony Montana

Author

Muslim or whatever religion a person is, such kind of threat to humanity is strongly

Author — Tala Hydropower Plant Tabji

Author

everyone know why noble peace prize is given to aang saan sochi and obama- because they are the killers of peace and

Author — 719faheem

Author



साल - 1947 - यह समय था, की भारत और पाकिस्तान दो अलग देश बन रहे थे ।जहां मुसलमानो ने अलग राष्ट्र पाकिस्तान बनाने के लिए हिन्दुओ का नरसंहार किया, वहीं बर्मा के मुसलमान बौद्धों का नरसंहार कर पूर्वी पाकिस्तान में शामिल होना चाहते थे । कश्मीर की तर्ज पर ही नीच रोहिग्या मुसलमान सेना और जनता दोनो पर पत्थर बरसाते ।

अपने ही देश के खिलाफ " जिहाद " की शुरुवात हुई दूसरे विश्व युद्ध के समय, जब ब्रिटेन ने अलग राष्ट्र देने के बदले, रोहिंग्या मुसलमानो को जापान से लड़ने को तैयार किया, उनके हाथों में हथियार दिए गए, इन लोगो ने जापान से लड़ने की जगह अपने ही देश के 20, 000 बौद्धों को मार डाला, असंख्य बोद्ध महिलाओ का बलात्कार किया ।

स्वभाव से ही झगड़ालू इन मुसलमानो ने 1946 में जिन्ना से संपर्क किया कि बर्मा के माउ क्षेत्र को पाकिस्तान में शामिल किया जाए । जिन्ना ने इससे मना कर दिया । गुस्साए मुसलमानो ने अपने ही देश मे हत्या और बलात्कार का नंगा नाच शुरू कर दिया । इन्होंने अपनी आतंकी सेना तक भी बना ली, जो पाकिस्तान जाकर ट्रेनिग लेती, ओर बौद्धों को मारती ।

1946 से लेकर अब तक इन जिहादी रोहिंग्या मुसलमानो से बोद्ध जनता त्रस्त थी । लेकिन वहां उदय हुआ विराथु नाम के एक सच्चे सन्त का जिसने कहा " आप कितने भी शांतिप्रिय क्यो ना हो, लेकिन पागल कुत्तो के साथ आप नही सो सकते "

खतरे की घण्टी बज चुकी है, अगर खुद को बचाना है, तो मुसलमानो को जड़ से खत्म करना होगा ।

2001 में उन्होंने व्यापार से मुस्लमानो के पूर्ण बहिष्कार का अभियान - " अभियान - 969 " चलाया । अगर किसी दुकान पर 969 लगा होता, तभी बोद्ध वहां से सामान खरीदते ।

2012 में एक बोद्ध महिला का बलात्कर कर मुसलमानो ने हत्या कर दी । फिर तो बर्मा जल उठा, आग में घी का काम किया विराथु के भाषणों ने । इस आग की लपट भारत के आजाद मैदान तक आयी । बौद्धों ने अब हथियार उठा लिए थे ।

विराथु का कहना है कि मुस्लिम अल्पसंख्यक बौद्ध लड़कियों को फंसाकर शादियाँ कर रहे हैं एवं बड़ी संख्या में बच्चे पैदा करके पूरे देश के जनसंख्या-संतुलन को बिगाड़ने के मिशन में दिन रात लगे हुए हैं, जिससे बर्मा की आन्तरिक सुरक्षा को भारी खतरा उत्पन्न हो गया है। इनका कहना है कि मुसलमान एक दिन पूरे देश में फैल जाएंगे और बर्मा में बौद्धों का नरसंहार शुरू हो जाएगा।

संयुक्तराष्ट्र की विशेष प्रतिनिधि यांग ली ने सेकुलरिज्म दिखाते हुए बर्मा का दौरा किया और विराथु की साम्प्रदायिक सोच की निंदा की तब विराथु की हिम्मत देखिये . उसने उसे खुलेआम धमकी दी एवं यहाँ तक कि उन्हें वेश्या और कुतिया भी कह दिया और कहा-" आपकी संयुक्त राष्ट्र में प्रतिष्ठा है, इसलिए आप अपने आप को बहुत को बहुत प्रतिष्ठित व्यक्ति न समझ लें। बर्मा के लोग अपने देश की रक्षा स्वयं करेंगे। उन्हें आपके सलाह की जरूरत नहीं है।" मीडिया के सामने कहे गये अपने निर्भीक विचारों के कारण उनकी ख्याति पूरी दुनियाँ में फैल गयी।

पूरी जनता विराथु के साथ थी, ढूंढ ढूंढकर, चुन चुन कर मुसलमानो का कत्ले आम हुआ, ना बच्चे बख्से ना बूढ़े ना ओरत । हर एक मस्जिद ढा दी गयी । कुत्ते की तरह मुसलमानो को मारा गया ।

आज यह कुत्ते दर बदर की ठोकर खा रहे है । भारत के मुसलमान इन्हें यहां बसाना चाहते है, लेकिन इनके तो 57 मुस्लिम देश है, वो इन्हें क्यो नही अपनाते ?

Author — BROTHER FROM ANOTHER MOTHER

Author

Next number India well done Myanmar forces👌

Author — Brock Lesnar

Author

Oh God, strike the wrongdoers against the unjust and bring us out of their hands safe and God bless you and me

Author — Ting Tong

Author

Uk rhe GREAT BRITAIN bring the evil to asia africa and middle east.and throughout the history the orifin of evil was brought by western European. Killing torturing murdering are fheir specialty. And even now they think they are only civilized human species on earth. Evil prevailed

Author — 오주만세

Author

We live in a unhappy and miserable ass world. Everyone's got beef with someone. Whatever the case.

Author — redsea

Author

They do exactly as America does in Iraq at Abu Ghraib

Author — Ахмед Россия

Author

.Jo ho RHA h achha nhi h ye insanit ka.katal h

Author — B&B RECORDS

Author

putangina ninyo mga myanmar military babawian din kayo

Author — Johnrolly Colago

Author

I am from India if Myanmar have Pawer do flight only Indian one state police only 1000 black commandos is more fore the Myanmar okk

Author — mohd husen

Author

My family Gen😢cide history arakan state please message to the world

Author — sageer ahmad

Author

The comment section is making me lose more faith in humanity smh

Author — Nikki A.

Author

Hukuman miamar yg merampas tanah melayu bersama india dan china n bangla

Author — ali hakim